Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

11+ प्रसिद्ध वृंदावन में घूमने की जगह, दर्शनीय स्थल | 2023 Me Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah In Hindi

11+ वृंदावन में घूमने की जगह, घूमने का खर्च, जाने का सही समय, वृंदावन में रुकने की जगह, वृंदावन के प्रसिद्ध मंदिर (Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah In Hindi, Vrindavan Tourist Places, Vrindavan Tour Package)

भगवान श्री कृष्ण की प्रिय जगह वृंदावन में बहुत से खूबसूरत जगह है। वृंदावन में श्री कृष्ण नें कही सर बाल लीलाये दिखाए है, जिनसे वृंदावन भरा पड़ा है। अगर आप भी वृंदावन में जाने के सोच रहे है तो आज हम आपको इस लेख में 11+ वृंदावन में घूमने की जगह के बारेमे बताने वाले है। भगवान कृष्ण का जन्म मथुरा में हुआ था, जहा से वृंदावन कुछ ही दूरी पर स्थित प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है। इस जगह पर हर साल लाखों की भीड़ में भक्त दर्शन के लिए आते है और दर्शनीय स्थल के दर्शन लेते है। तो चलिए जानते है Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah के बारेमे।

Table of Contents

11+ वृंदावन में घूमने की जगह (Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah In Hindi)

वृंदावन पर्यटक स्थल भगवान कृष्ण के बाल लीलाओ से भरा पड़ा है। हिन्दू धर्म के अनुसार यह काफी ज्यादा पवित्र स्थल मे से एक है। कहते है की यहापर आज भु बाँसुरी की आवाज सुनाई देती है और यही आवाज सुनने के लिए लोग बहुत से रातों तक वृंदावन में रुकते है। यहा ऐसे कही सारे दर्शनीय और पवित्र स्थल है जिसे देखने हर साल लाखों को भीड़ में पर्यटक आते है। तो चलिए जानते है Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah के बारेमे।

#1 वृंदावन में घूमने की जगह यमुना नदी

यमुना नदी के किनारे बसा हुआ वृंदावन शहर काफी सुंदर है। यमुना नदी और श्री कृष्ण का बहुत गहरा रिश्ता है। यह वही नदी है जहा से वासुदेव जी ने श्री कृष्ण को लेकर गए थे। यमुना नदी को श्री कृष्ण की बहन भी कहा जाता है, जो गंगा नदी जितनी हि पवित्र नदी है। इस नदी में जो भी व्यक्ति डुबकी लगाता है उसके सारे पाप श्री कृष्ण माफ कर देते है और उसकी आत्मा शुद्ध हो जाती है। इसीलिए अगर आप कभी वृंदावन में घूमने की जगह जाए तो एकबार यमुना नदी के किनारे अवश्य जाए। यहा बहुत सारे घाट देखने को मिलेंगे और आप नाव की भी सवारी कर सकते है।

#2 वृंदावन का प्रसिद्ध धार्मिक स्थल केसी घाटी (Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah Kesi Ghati)

वृंदावन के फेमस धार्मिक स्थल में से एक है केसी घाट। श्री कृष्ण का बचपन ज्यादातर वृंदावन में ही बीता है। कहा जाता है की भगवान श्री कृष्ण नें एक दृष्ट राक्षस केसी का वध कीया था और उसके अत्याचारों से अपने मित्र और गावकरी को बचाया था। तबसे इस जगह को केसी घाट के नाम से जना जाता है।

#3 वृंदावन का प्रसिद्ध रंगजी मंदिर

यह मंदिर भगवान विष्णु के 108 दिव्य देशों में से एक है, जो वृंदावन और मथुरा के रास्ते पर स्थित है। इस मंदिर को रंगनाथ मंदिर से भी जाना जाता है। इस मंदिर मे कृष्ण की मूर्ति की स्थापित किया है जो दूल्हे के रूप है और उनकी दुल्हन अंडाल है। इन दोनों की मूर्ति इस मंदिर में देखने को मिलती है, जो उत्तर भारत में सबसे बड़े मंदिर में से एक है। इस मंदिर की स्थापना 1851 में हुई थी।

#4 राधा-कृष्ण के प्यार में डूबा हुआ प्रेम मंदिर (Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah Prem Mandir)

प्रेम मंदिर कृष्ण और राधा के प्रेम ले लीला की वजह से काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। इन दोनों की प्रेम लीला की वजह से इस मंदिर को बनाया गया है और प्रेम मंदिर नाम रखा है। इस मंदिर को बनाने में लगभग 11 वर्ष का समय लगा था और 100 रुपये से भी ज्यादा की राशि का उपयोग किया गया था। इस मंदिर में काफी अच्छी कारिगीरी की गई है, जिसको देखने के भर आप भारतीय संस्कृति और शिल्प कला का एक नया रूप देखोगे।

इस मंदिर को 2012 में निर्माण का कार्य जगत गुरु कृपालु जी महाराज द्वारा शुरू हुआ था। जिसमे भगवान कृष्ण, राधा, गोपिया और ब्रज वासियों के बहुत से लियाये के मूर्तिया देखने को मिलती है।

#5 वृंदावन में घूमने की जगह मानसरोवर

वृंदावन की सबसे प्रसिद्ध जगह में से एक मानसरोवर है, जो काफी सुंदर झील है। यह झील वृंदावन शहर से 5 किमी के दूरी पर माठ तहसील में स्थित है। कहा जाता है की इस झील का निरमान राधा के आंसुओ से हुआ था। यह भी कहा जाता है की वृंदावन की गोपिया जब मथुरा जाते थे तो उसके पहले श्री कृष्ण को मिलने यहा आते थे और उनके साथ रासलीला करते थे। यह गोपिया काफी सुंदर थी और इनके बीच भगवान शिवजी भी स्त्री का रूप लेकर यह रासलीला करने आए थे।

भगवान शिवजी को नारी के रूप में श्री कृष्ण पहचान लेते है और उनके साथ नृत्य करते है, जिसको देखकर राधा रूठ गई थी और एक पहाड़ी पर जाकर बैठ जाती है रोने लगी थी। उन्ही के आंसुओ से यह मानसरोवर की झील का निर्माण हुआ था।

#6 कुसुम सरोवर (Best Places To Visit In Vrindavan Kusum Sarovar)

इस सरोवर का निर्माण जवाहर सिंह द्वारा उनके पिता सुरजमल की याद में बनाया गया था। कुसुम सरोवर वृंदावन में गोवर्धन पर्वत से करीब 2 किलोमीटर की दुरु पर स्थित एक खूबसूरत कुंड है। जब इस सरोवर को बनाया गया था तब यह कच्चा था, लेकीन बदमे 1675 में ओरछा का राजा वीर सिंह ने इस कुंड को पक्का करवाया था। उन्होंने अपनी रआणि किशोरी के लिए यह पर बाग बगीचा भी बनवाया था।

#7 बांके बिहारी मंदिर (Best Tourist Place In Vrindavan)

मुघल बादशाह अकबर के नवरत्न में से एक तानसेन भी थे, जिनको आज हर कोई पहचानता है। उनके एक गुरु स्वामी हरीदास नें भगवान श्री कृष्ण के लिए इस बांके बिहारी मंदिर का निर्माण किया था। यहा मंदिर काफी सुंदर है, जहा कही सारे भक्त इसका दर्शन करने के लिए आते है। अगर आप वृंदावन में घूमने की जगह जाते है तो आप इस बांके बिहारी मंदिर मे एक बार दर्शन के लिए जा सकते है।

#8 वृंदावन का दर्शनीय स्थल इस्कॉन मंदिर

इस मंदिर को हजारों से भी ज्यादा संस्कारों से मिलकर बनाया गया है, जहा कहा जाता है श्री कृष्ण इस जगह पर अपने दोस्तों के साथ खेलने आते थे और उनको चिड़ाते थे। यह देश में काफी ज्यादा प्रसिद्ध मंदिर में से एक है, जहा लाखों भक्तों की भीड़ होती है।

#9 गोविंद देव मंदिर (Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah Govind Dev Mandir)

वृंदावन की प्रसिद्ध जगह में से एक गोविंद देव मंदिर भी है, जो एक वैष्णव संप्रदाय का मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण अनोखी वास्तुकला का उपयोग करके बनाया है, जिसमे लाल रंग के पत्थर का उपयोग किया गया है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। इसका निरमान 1550 ईस्वी मे हुआ था।

#10 वृंदावन का फेमस कालियादेह घाट

भगवान कृष्ण ने अपने बालपन मे काफी सारे लीलाये दिखाए है, जिनमे से एक कालिया नाग भी है। कहा जाता है की भगवान श्री कृष्ण ने इस घाट में कालिया नाग के सर पर चढ़कर नृत्य कीया था और यमुना नदी को जहर से मुक्त कीया था। जिसके बाद इस घाट का नाम कालियादेह घाट रखा गया है। पहले के जमाने में यमुना नदी इसी जगह से बहती थी लेकीन अब वर्तमान में 100 मीटर दूर खिसक चुकी है।

#11 श्री रंग नाथ जी मंदिर (Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah)

वृंदावन की आकर्षक पर्यटक स्थल में से एक श्री रंग नाथ जी का मंदिर भी है। यहा की वास्तुकला देखने हर कोई इस मंदिर मे आता है। हिंदुल धर्म के अनुसार यह एक पवित्र जगह मे से एक है। यह मंदिर वैष्णव संत भगवान श्री गोदा-रंगमन्नार को समर्पित है।

#12 मदन मोहन मंदिर

यह मंदिर आदित्य पहाड़ी पे बसा हुआ जमीन से लगभग 50 फिट ऊपर है। जिससे आप यहा के चारों ओर के वातावरण का आनंद ले सकते है। यह मंदिर कालिया घाटी के आसपास है। इस मंदिर का नाम मदन मोहन रखा गया है, जिसका अर्थ कामदेव (प्रेम का देवता) होता है। यहा पर एक विश्राम स्थल बना है, जागा ओर कृष्ण ने नाग पर जीत पाकर यमुना नदी से इस जगह पर निकले थे। यह एक बहुत ही पवित्र जगह है।

वृंदावन के आसपास घूमने लायक जगह (Places To Visit Near Vrindavan)

अगर आप वृंदावन में मे जाकर वृंदावन शहर के आसपास घूमने चाहते है तो आप यहा प्रेम मंदिर, जामा मस्जिद, द्वारकाधीश मंदिर, कृष्ण जन्म भूमि मंदिर, रंगजी मंदिर में जा सकते है। यह वृंदावन के आसपास के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल है।

वृंदावन के प्रसिद्ध मंदिर (Famous Temple In Vrundavan)

वृंदावन में लगभग सभी प्रसिद्ध मंदिर है, लेकीन आप आसपास के मंदिरो में घूमना चाहते है तो आप प्रेम मंदिर, बांके बिहारी मंदिर, इस्कॉन मंदिर, दामोदर मंदिर, रंगनाथ मंदिर, दामोदर मंदिर, रंगजी मंदिर, द्वारकधीश मंदिर, आदि जैसे वृंदावन के प्रसिद्ध मंदिर में जा सकते है।

वृंदावन में 1 दिन में घूमने लायक जगह

अगर आप वृंदावन में एक दिन में यहा की प्रसिद्ध जगह घूमना चाहते है तो आप बांके बिहारी मंदिर, गोविंद देव मंदिर, पागल बाबा मंदिर, इस्कॉन मंदिर, मदन मोहन मंदिर, श्री वृंदकुण्ड, सेवा कुंज, शाहजी मंदिर, आदि जैसे जगहों आप एक दिन में घूम सकते है।

वृंदावन में रुकने की जगह (Vrundavan Me Rukne Ki Jagah)

अगर आप वृंदावन में घूमने जाते है और यह पर आप कुछ दिनों तक रुकना चाहते है तो आप यहा फ्री में भी रह सकते है और होटल में भी रह सकते है। यहा आप प्रेम मंदिर, पागल बाबा मंदिर, कृष्ण बलराम मंदिर, आदि जैसे जगहों पर भक्तों के लिए अच्छी व्यवस्था की जाती है। इसके साथ ही आसपास में कही सारे धर्मशाला और सराय देखने को मिलेंगे जिसमे कुछ फ्री है और कुछ 500 रुपये से भी कम रुपये लेते है। इसके अलावा आप यहा होटल में भी रह सकते है, जहा आपको 1000 रुपए से 5000 रुपये प्रति दिन का चार्ज लिया जाता है।

वृंदावन जाने का सही समय (Best Time To Visit In Vrundavan)

वृंदावन में आप कोनसे भी समय में जा सकते है। लेकिन आप यहा का मौसम में आनंद लेना है और फ़ोटोज लेना है तो आप नवंबर महीने मे जा सकते है। यहा का मौसम दक्षिण भारत के मुकाबले ज्यादा ठंडा रहता है। यहा का वातावरण ठंड के मौसम में काफी ज्यादा खूबसूरत रहता है।

वृंदावन में घूमने का खर्चा (Vrundavan Me Ghumne ka Kharcha)

वृंदावन में आप घूमने जाना चाहते है तो यहा आपको सिर्फ आने का ट्रैवल का खर्चा लगेगा। बाकी यह रहने के लिए यहा बहुत से आश्रम है और धर्मशाला है जहा आप फ्री मे रह सकते है और कम से कम आपसे यहा 500 रुपये तक चार्ज ले सकते है। अगर आप आश्रम मे न रहके किसी होटल में रहते है तो आपको यहा 1000 रुपये से लेकर रूम्स मिल जाते है। अगर वृंदावन में घूमने का खर्चा की बात करे तो आपको यहा 500 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक लग सकता है।

निष्कर्ष

आज हमने इस लेख में वृंदावन में घूमने की जगह के बारेमे जाना है। अगर आप वृंदावन में जाते है इन जगहों पर घूमने जा सकते है और इन प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों के दर्शन कर सकते है। तो आपको यह Vrindavan Me Ghumne Ki Jagah कैसी लगी हमे कमेंट्स में बताए।

यह भी पढे:-

Rate this post
Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment